राजकपूर की शादी से म’च गया था बवा’ल, विरो’ध में….

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के सू’त्रधा’र माने जाने वाले कपूर परिवार के बारे में तो आप सभी ने काफी कुछ सुना और पढ़ा है। पृथ्वीराज कपूर से लेकर रणबीर कपूर तक ये खा’नदान बॉलीवुड में अपना द’बदबा बनाए हुए है और समयचक्र के साथ ही अपना सि’क्का चलाता रहा है। लंबी-चौड़ी कद-काठी वाले पृथ्वीराज काफी रोबिले भी थे। पृथ्वीराज बिल्कुल नहीं चाहते थे कि उनके बेटे राज कपूर की शादी किसी फिल्मी बैकग्राउंड वाली लड़की से हो।इसके लिए वे एक पारंपरिक लड़की की तलाश में थे। उनकी तला’श संपन्न हुई और राजकपूर की शादी भी। लेकिन इस शादी के बाद कपूर परिवार को काफी जि’ल्लत भी उठानी पड़ी थी।


Raj- Krishna
दरअसल, कृष्णा मल्होत्रा जिसने राज कपूर की शादी हुई थी वे प्रेम नाथ और राजेंद्र नाथ की बहन थीं। वही प्रेमनाथ जिन्हें बॉलीवुड में मं’झा हुआ खलनायक और राजेंद्र नाथ जिन्हें बेहतरीन हा’स्य अभिनेता के तौर पर जाना जाता है। हालांकि, ये लोग बहन कृष्णा की शादी के बाद फिल्मी दुनिया में आए क्योंकि बहनोई राज कपूर से अच्छा समर्थन मिल गया था। साथ ही पृथ्वीराज कपूर के पृथ्वी थियेटर में काम भी।

राजकपूर की शादी एक डीआईजी की बेटी से हुई थी। मध्यप्रदेश के रीवा का ये परिवार प्रशासनिक बैकग्राउंड से था। उनकी शादी तब के आईजी यानी पुलिस महानिरीक्षक करतार नाथ मल्होत्रा की बेटी कृष्णा मल्होत्रा से हुई थी। पृथ्वीराज ने तो अपने हिसाब से बहू पसंद की और राज कपूर ने पत्नी। इसके बावजूद शादी के बाद उस ज’माने में अखबारों में इस शादी के खिला’फ लेख छा’पे गए थे। इसका कारण हम आपको बताते हैं।

Kapoors
बताया जाता है कि पृथ्वीराज कपूर और उनके दोनों बेटे राज कपूर व शम्मी कपूर को फिल्मों के कारण शहर-शहर भ’टकना पड़ता था। ऐसे ही एक सिलसि’ले में ये परिवा’र मध्यप्रदेश जा पहुंचा। वहां डीआईजी साहब के घर पर इनकी खूब खा’तिरदा’री हुई। इसके बाद से ये लोग जब भी वहां का रु’ख करते थे, डीआईजी साहब के यहां हा’जिरी जरूर द’र्ज करवाते थे। ऐसे में दोनों परिवार के बीच अच्छा संबं’ध स्था’पित हो गया था। इस दौ’रान पृथ्वीराज अपने बेटे राज कपूर के लिए सही लड़की की तला’श में थे।

राज कपूर खुद भी कोई सर्वश्रेष्ठ जीवनसाथी खोज रहे थे। राज और शम्मी का तब तक रीवा वहां आना-जाना शुरू हो गया था और शम्मी व डीआईजी साहब के बेटे राजेंद्र नाथ में अच्छी दोस्ती भी हो गई थी। एक दिन राज कपूर राजेंद्र नाथ के साथ उनके घर पहुंचे। वहां उन्हें संगीत की धुन सुनाई दी। बस वे उसी आवा’ज के पीछे-पीछे चल दिए। देखा तो एक कमरे से सितार की मधुर ध्वनि निकल रही थी। जब खिड़की से झां’ककर अंदर देखा तो उनकी आंखें वहीं ठह’र गईं। सफेद साड़ी में लिपटी बालों में गजरा लगाए एक लड़की सितार बजा रही थी।

Krishna Raj Kapoor
बस इतना देखते ही राज कपूर दिल दे बैठे। दरअसल, कृष्णा उस वक्त सितार सीखा करती थीं। बस राज कृष्णा की इस अदा पर दिल हार चुके थे। फिर क्या था दोनों का रिश्ता पक्का हो गया और परिवार वालों ने बड़ी धूमधाम से शादी संपन्न करवाई। ये विवाह समारोह करतार नाथ मल्होत्रा के सरकारी घर पर ही हुआ था। लेकिन इस शादी की खबर जैसे ही मीडिया में पता चली, खूब हाय-तौबा मची। कुछ लोगों को ये शादी पसंद नहीं आई और लोग राज कपूर व पृथ्वीराज के खिला’फ लिखने लगे। दरअसल, पृथ्वीराज कपूर और राज कपूर के ससु’र आपस में ममे’रे भाई थे। इस रिश्ते से कृष्णा राज कपूर की बहन लगीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

block id 7185 site indiahindinews.com - Mob_300x600px
block id 7184 site indiahindinews.com - PC_700x400px