साल 2021 में होंगे बड़े सिया’सी ब’दलाव, अमित शाह बन सकते हैं प्रधानमंत्री

साल 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद जब केंद्र में भारतीय जनता पार्टी ने दस्तक दी थी। तो देश में कई सारे बदलाव किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश के गृह मंत्री अमित शाह की जोड़ी को लोगों द्वारा काफी पसंद किया जाता है और इन दोनों ने साथ मिलकर ही कई बड़े फैसले लिए हैं।
अमित शाह कभी बीजेपी अध्यक्ष बनकर तो कभी गृह मंत्री बनकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सि’यासी जिंदगी में बहुत बड़े और अहम ब’दलाव ला रहे हैं।

सितारों की चाल की मानी जाए तो जहां गुजरते वक्त के साथ-साथ पीएम मोदी रा’जनीति’क तौर पर क’मजो’र होंगे। वही अमित शाह साल 2022 के बाद सियासत का एक नया अध्याय लिख सकते हैं। माना जा रहा है कि साल 2021 के बाद अमित शाह की सफलता की संभावना और भी बढ़ सकती है। अगर किसी और राजनेता के सितारे उनसे ज्यादा बुलंद नहीं हुए तो वह अगले लोकसभा चुनाव में या फिर उससे पहले भी प्रधानमंत्री बन सकते हैं।


Amit Shah- Narendra Modi
बताया जा रहा है कि साल 2020 बजे हमेशा के लिए अच्छा ना रहा हो लेकिन साल 2021 में अमित शाह का सियासी सितारा चमकने लगेगा। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सितारे कमजोर होंगे। पीएम मोदी को मजबूत आधार अमित शाह की लगातार सक्रियता और समर्थन से ही हासिल हुआ है। क्योंकि और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की प्राथमिकता हमेशा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही रहे हैं। अब जब से जेपी नड्डा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने हैं। तब से सियासी तस्वीर बिल्कुल बदल चुकी है।

Narendra Modi- Amit Shah
साल 2023 को नजरअंदाज कर दें, तो अगले पांच साल अमित शाह के लिए कामयाबी का संदेश लेकर आ रहे हैं। इस पांच सालों के दौरान जहां उनके सियासी कार्यक्षेत्र का विस्तार होगा, वहीं उनका प्रभाव भी बढ़ेगा। लेकिन, साल 2022 के उतरार्ध से साल 2023 का समय सियासी उल’झने खड़ी करेगा। खासकर, गुजरात में सियासी समीकरण साधना बड़ी चुनौती रहेगी। बात करें अमित शाह के सियासी करियर की तो वह बहुत ही कम उम्र में बीजेपी के साथ जुड़ गए थे। इसके साथ ही उनकी मुलाकात नरेंद्र मोदी से भी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

block id 7185 site indiahindinews.com - Mob_300x600px
block id 7184 site indiahindinews.com - PC_700x400px