कृषि कानूनों के खिलाफ आज से इन शर्तों के साथ जंतर-मंतर पर किसान कर सकेंगे प्रदर्शन

 
kisan andolan
 नई दिल्ली। कृषि सुधार कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों को संसद के मानसून सत्र के दौरान केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के लिए जगह मिल गई है। अब वे जंतर-मंतर पर सुबह 11 से शाम पांच बजे तक यानी छह घंटे प्रदर्शन कर सकेंगे। रोज 200 प्रदर्शनकारी ही प्रदर्शन में शामिल होंगे। 22 जुलाई से नौ अगस्त तक प्रदर्शन करने की इजाजत दी गई है। पुलिस आयुक्त बालाजी श्रीवास्तव ने जंतर-मंतर जाकर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अधिकारियों से बात की। गौरतलब है कि इस मुद्दे को लेकर दिल्ली पुलिस और संयुक्त किसान मोर्चा के बीच दो बार की बैठक नतीजा रही थी। मोर्चा के नेता संसद के सामने धरना देना चाहते थे, जबकि पुलिस इसके लिए तैयार नहीं थी। वह कहीं अन्यत्र धरने का विकल्प सुझा रही थी। अब उपराज्यपाल अनिल बैजल के निर्देश पर जंतर मंतर पर धरने की अनुमति दी गई। प्रदर्शनकारियों ने भी इस पर सहमति जताई है।