कुलपति से मिलने से पहले खानी पड़ती हैं नीम, वजह है’रान करने वाली

छत्तीसगढ़ के एक कुलपति प्रोफेसर ने कोरोना वाय’रस से बचा’व के लिए अनोखा तरी’का नि’काला है और जो भी इनसे मिलने के लिए आता है। उसे ये नीम की पत्तियां च’बाने को देते हैं। बिलासपुर स्थित अट’ल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अरुण दिवाकर नाथ ने ये निय’म बना रखा है कि जो भी उनसे मिलना चाहता है। उसे सबसे पहले नीम का पत्ता खाना होगा। अगर कोई ऐसा करने से म’ना कर दें तो ये उनसे नहीं मिलते हैं।


कोरो’ना से बचा’व के लिए इन्होंने ये आयुर्वे’दिक तरी’का निका’ला है। कुलपति ऑफिस के बाहर नीम की काफी सारी पत्तियां रोज रखी जाती हैं। वहीं जब कोई इनसे मिलने के लिए आता है। तो इनके गेट पर खड़े लोग पहले उसे तीन नीम की पत्ती च’बाने को देते हैं। नीम के पत्तों को च’बाने के बाद उन्हें अं’दर जा’ने की अनुम’ति दी जाती है। इसके साथ ही सुरक्षाकर्मी आने वाले गेस्ट को कोरो’ना के बारे में जा’नकारी देते हैं और उन्हें सामाजिक दू’री बनाए रखने व मा’स्क लगाने के लिए कहते हैं।

स्थानीय अखबार से बात करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति ने कहा कि नीम एक संपू’र्ण औष’धि है। इसके हर तत्व में वि’षाणु और कि’टाणु से ल’ड़ने की क्ष’मता है। अगर नीम की पत्तियां किसी को च’बाने में क’ड़वी नहीं लगती है तो पता चलता है कि उसे संक्र’मण नहीं है क्योंकि संक्र’मण के दौ’रान लोगों का स्वाद चला जाता है। प्रोफेसर अरुण दिवाकर नाथ ने हाल ही में विश्वविद्यालय में कुलपति का पद सं’भाला है। ऐसे में कई संख्या में लोग इनसे मिलने के लिए आते रहते हैं। रानी दुर्गावती विवि के वरिष्ठ प्राध्यापक अरुण दिवाकर नाथ वाजपई ने मंगलवार को ही अट’ल बिहा’री वाजपेयी विवि के कुलपति का प’दभा’र ग्र’हण किया।

ये पद ग्रह’ण करने से पहले इन्होंने प्रवेश गेट के पास पूजा अ’र्चना की थी और हवन डाला था। इसके बाद इन्होंने अपने कक्ष में प्रवेश किया था और नीम का पत्ता खा’कर आने वालो से ही मिलने का निय’म बनाया। जिसके चलते जो लोग इन्हें बधाई देने के लिए आना चाहते थे, उन्हें नीम का पत्ता खाना पड़ रहा है। गौरत’लब है कि छत्तीसगढ़ राज्य कोरो’ना से बु’री तरह से प्रभा’वित हुआ है और महाराष्ट्र के बाद इसी राज्य से सबसे ज्यादा कोरो’ना के के’स आ रहे हैं। यहां की राज्य सरकार ने कई सारी पांब’दियां यहां लगा दी हैं और केवल जरूरी काम होने पर ही लोगों को घर से बाह’र निकलने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

block id 7185 site indiahindinews.com - Mob_300x600px
block id 7184 site indiahindinews.com - PC_700x400px