ख़’तरे में महाराष्ट्र सरकार..? शिवसेना ने कह दी…

महाराष्ट्र में निलं’बित पु’लिस अधिकारी सचिन वाजे को लेकर कई बातें सामने आ रही हैं। जिसके चलते महाराष्ट्र सरकार पर कई सवाल उठाए जा रहे हैं। इस मामले में महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख को भी आरो’पी ठहराया जा रहा है। हाल ही में वि’पक्ष द्वारा उनके इस्तीफा लेने की मांग भी की गई थी। वि’पक्ष के बाद अब शिवसेना भी अनिल देशमुख पर सवाल उठना शुरू कर दिया है। शिवसेना के मुखपत्र सामना में देशमुख की खिंचाई की गई है। इसमें लिखा गया कि देशमुख को गृहमंत्री का पद दुर्घ’टनाव’श मिल गया है।

शिवसेना के राज्यसभा सांसद और सामना के कार्यकारी संपादक संजय राउत ने अपने संपादकीय में लिखा कि “श्री अनिल देशमुख ने कुछ वरिष्ठ अधिकारियों से बेवजह पंगा लिया। गृहमंत्री को क’म-से-क’म बो’लना चाहिए। बेवजह कैमरे के सामने जाना और जां’च का आ’देश जारी करना अच्छा नहीं है। ‘सौ सुनार की एक लोहार की’ ऐसा बर्ताव गृहमंत्री का होना चाहिए। पु’लिस विभाग का नेतृत्व सिर्फ ‘सैल्यूट’ लेने के लिए नहीं होता है। वह प्रखर नेतृत्व देने के लिए होता है। प्रखरता ईमानदारी से तैयार होती है, ये भूलने से कैसे चलेगा?”


Vaze- Thackeray- Deshmukh
उन्होंने बताया कि जयंत पाटील, दिलीप वलसे-पाटील ने गृह मंत्री का पद स्वीकार करने से म’ना कर दिया था। जिसके बाद ये पद देशमुख को दिया गया। राउत ने लिखा कि “परमबीर सिंह ने जब आरो’प लगाया तब गृह विभाग और सरकार की ध’ज्जियां उड़ीं। परंतु महाराष्ट्र सरकार के ब’चाव में एक भी महत्वपूर्ण मंत्री तुरंत सामने नहीं आया। चौबीस घंटे ग’ड़बड़ी का माहौल बना रहा। लोगों को परमबीर का आरो’प प्रारंभ में सही लगा इसकी वजह सरकार के पास ‘डैमेज कंट्रोल’ के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी।”

Uddhav Thackeray- Anil Deshmukh
आगे उन्होंने कहा कि “एक वसूलीबाज पु’लिस अधिकारी का बचाव प्रारंभ में विधान मंडल में किया। उसके बाद परमबीर सिंह के आरो’पों का उत्तर देने के लिए कोई तैयार नहीं था और मीडिया पर कुछ समय के लिए वि’पक्ष ने कब्जा जमा लिया, यह भयंकर था।” उन्होंने गृहमंत्री पर सवाल उठाते हुए कहा कि “पु’लिस आयुक्त, गृहमंत्री, मंत्रिमंडल के प्रमुख लोगों का दुलारा व विश्वासपात्र रहा वजे महज एक सहायक पु’लिस निरीक्षक था। उसे मुंबई पु’लिस का असीमित अधिकार किसके आदेश पर दिया गया? यह वास्तविक जांच का विषय है। मुंबई पु’लिस आयुक्तालय में बैठकर वाजे वसूली कर रहा था और गृहमंत्री को इस बारे में जानकारी नहीं होगी?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

block id 7185 site indiahindinews.com - Mob_300x600px
block id 7184 site indiahindinews.com - PC_700x400px