जदयू का ये फ़ै’सला बढ़ा देगा भाजपा की मु’श्किलें, नीतीश ने 95 नेताओं को…

इस बार देश के 5 राज्यों में होने वाले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी पार्टी जनता दल यूनाइटेड पश्चिम बंगाल और असम दोनों ही राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की मुश्किलें बढ़ाने वाली है। दरअसल जदयू ने फैसला लिया है कि वह इन दोनों राज्यों में भाजपा के खिलाफ चुनावी दंगल में उतरेंगे। दोनों राज्यों में विधानसभा चुनावों में अपने उम्मीदवारों को जदयू ने सिंबल देने शुरू कर दिए हैं।

इसी बीच जानकारी मिली है कि पश्चिम बंगाल में जनता दल यूनाइटेड ने अब तक 45 और असम में 50 उम्मीदवारों को उतार दिया है। इन राज्यों में जदयू बिना किसी दल के साथ गठबंधन किए अपने ही दम पर चुनावी मैदान में उतरी है। बताया जाता है कि पश्चिम बंगाल में जनता दल यूनाइटेड के प्रभारी गुलाम रसूल बलियावी नियमित तौर पर दौरे कर चुनाव प्रचार कर रहे हैं।अधिकारिक तौर पर यह जानकारी दी है कि चौथे चरण से आगे चरण तक जनता दल यूनाइटेड के उम्मीदवार मैदान में देखेंगे पहले चरण में उतारे के 5 उम्मीदवारों में से चार उम्मीदवारों के नामांकन रद हो गए।


Narendra Modi- Amit Shah
नामांकन पत्र भरने में त्रुटि की वजह से यह हो गया। दूसरे और तीसरे चरण में जदयू के लगभग आधा दर्जन उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। चौथे चरण से यह संख्या बढ़ जाएगी। जिन 45 लोगों को पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए जदयू ने अपने सिंबल दिए हैं। अभी यह तय नहीं हो पाया है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पश्चिम बंगाल व असम विधानसभा चुनाव में जदयू प्रत्याशियों के चुनाव प्रचार में जाएंगे या नहीं।

Nitish- Amit
पर जदयू के सांसद और बिहार के मंत्रियों की पश्चिम बंगाल व असम चुनाव में सक्रियता बढ़ेगी। असम के विधानसभा चुनाव को ले जदयू ने अब तक 50 उम्मीदवारों को अपना सिंबल दिया है। बिहार के ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार वहां लगातार जा रहे। जदयू ने तिनसुकिया, सिलचर, नवगांव और गुवाहाटी इलाके में अपने को केंद्रित किया हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

block id 7185 site indiahindinews.com - Mob_300x600px
block id 7184 site indiahindinews.com - PC_700x400px